logo
Section officer, Research Section, AU:
  1. The Viva-Voce of Mr./Ms. Neelesh Agarwal  candidate for the D.Phil. Degree of the University on the subject of his/her thesis titled as, “Design and Analysis of Multi- Band Microstrip Patch Antennas ” will be held on 03/02/2020 at 10:30am in the Department of Electronics & Communication AU: by Prof. Amit Kumar Singh  and Prof. J.S.Ansari , Members of the Academic Council are invited to attend but no T.A./D.A. will be paid
  2. The Viva-Voce of Mr./Ms. Abha, candidate for the D.Phil. Degree of the University on the subject of his/her thesis titled as, “Bhartiya Vanoushdh Samvay Evam Uski  Upyogita ” will be held on 03/02/2020 at 11:00am in the Department of Sanskrit AU: by Prof. Saraswati singh  and Prof. K.K. Srivastava , Members of the Academic Council are invited to attend but no T.A./D.A. will be paid
  3. The Viva-Voce of Mr./Ms. Richa Biswal, candidate for the D.Phil. Degree of the University on the subject of his/her thesis titled as, “A Critical Analysis of John Donne’s Poetry in the Light of Indian Poetics ” will be held on 14/02/2020 at 11:00am in the Department of English AU: by Prof. Kalpana Purohit  and Prof. S.K. Sharma  , Members of the Academic Council are invited to attend but no T.A./D.A. will be paid
 
Head, Department of Botany, AU:
Third information of the final list of selected candidate in CRET 2019 Botany has been displayed on the notice board of the Department. Candidate is required to contact office of Department and submit all the relevant documents on or before February 18, 2020.
 
चेयरमैन, प्रोफिशिएंसी एडमीशन, 2020, उर्दू विभाग, इ0वि0वि0ः
उर्दू प्रोफिसिएंसी 2020 में प्रवेश के लिये जिन छात्रों ने फार्म जमा किया है वह अपने तमाम मुल प्रमाण पत्रों के साथ 31 जनवरी 2020 को समय 10 बजे से 2 बजे के बीच उर्दू विभाग के कार्यालय में सम्पर्क करे। यह अन्तिम अवसर है।
 
निदेशक, गांधी भवन, इ0वि0वि0ः
Januray 29, 2020-1.jpg

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी शहीद दिवस की पूर्व संध्या पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया संगोष्ठी का विषय राष्ट्रीय निर्माण में युवाओं की भूमिका भूमि क्या था इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में विश्वनाथगंज प्रतापगढ़ के विधायक एवं इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र डॉक्टर आरके वर्मा थे संगोष्ठी की अध्यक्षता इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रोफेसर के यश मिश्रा ने की स्वागत वक्ता गांधी विचार एवं शांति अध्ययन संस्थान के निदेशक एवं प्रख्यात गांधीवादी प्रोफेसर बीके राय दिया इस अवसर पर संगीत विभाग के प्रोफेसर पीके मलिक ने निर्देशन में गांधी जी के प्रिय भजनों की भी प्रस्तुति की गई प्रोफेसर ने कहा कि युवा याद सकारात्मक चिंतन मनन के साथ अपने लक्ष्य को प्राप्त करने का प्रयास करता है पूर्ण लगन के साथ अपने कार्य को करता है तो निश्चित रूप से वह अपने लक्ष्य को प्राप्त करता है आज का युवा परिवर्तन के का सबसे बड़ा बाजार है हमें इसे सकारात्मक दिशा में धार देनी होगी जिससे राष्ट्र के  निर्माण में युवा अपनी भूमिका अदा कर सके उन्होंने कहा कि युवाओं को नैतिक मूल्यों को आत्मसात करने बड़े बुजुर्गों माता-पिता का आदर एवं सम्मान के भाव को बनाए रखने के लिए प्रेरित किया मुख्य अतिथि विश्वनाथगंज के विधायक एवं इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र डॉक्टर आरके वर्मा में अपने संबोधन में कहा कि दुनिया में भारत की सबसे ज्यादा आबादी वाला लगभग 80 करोड़ युवाओं की है राष्ट्रीय निर्माण में युवाओं का युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका होती है शक्ति देश व समाज की रीढ़ होती है युवा देश व समाज को शिखर पर ले जा सकता है युवा ही देश के वर्तमान भूत एवं भविष्य के मध्य सेतु का काम कर सकता है युवा गान उर्जा और उच्च महत्वाकांक्षा से भरे हुए होते हैं समाज को बेहतर बनाने और राष्ट्र के निर्माण में सर्वाधिक योगदान युवाओं का ही होता है उन्होंने कहा कि हर विधा के लोग अपने अपने क्षेत्र में उच्च उच्च स्तर का काम करके राष्ट्र के निर्माण में अपना योगदान दे सकते हैं संगोष्ठी की अध्यक्षता करते हुए विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रोफेसर केस केस मिश्रा ने कहा कि किसी भी राष्ट्र के निर्माण में युवा एक्रीड होता है उन्होंने कहा कि युवाओं को अपने अधिकारों की अपेक्षा कर्तव्यों पर अधिक जोर देना चाहिए संगोष्ठी का संचालन राजेश सिंह ने किया  इस अवसर पर डॉ अखिलेश पाल गजे सिंह डॉक्टर शैलेंद्र मिश्रा डॉक्टर कार्तिकेय मिश्रा डॉ सुशील सिन्हा प्रोफेसर धनंजय यादव प्रोफेसर उमाकांत यादव प्रोफेसर प्रोफेसर अजय सिंह सुरेश यादव सुरेंद्र चौधरी मुकुंद लाल मौर्य योगेश पटेल नीतू साहू एसके सक्सेना चंद्रबली पटेल अजय पटेल इत्यादि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे

डीन, विद्यार्थी कल्याण, इ0वि0वि0
Januray 29, 2020-2.jpg
इलाहाबाद विश्वविद्यालय के नॉर्थ हाल में प्रोफेसर राजेंद्र सिंह रज्जू भैया पर गोष्ठी का आयोजन किया गया  कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में प्रोफेसर राणा कृष्णपाल कुलपति डॉ शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय ने अपने उद्बोधन में रज्जू भैया के व्यक्तित्व एवं कृतित्व के विषय पर विस्तार से चर्चा की उन्होंने युवाओं को उनके जीवन से प्रेरणा लेने पर जोर दिया कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में श्रीमती नीतू सिंह सचिव यति संकल्प संस्थान कानपुर ने रज्जू भैया के जीवन से जुड़े संस्मरण ओं के बारे में बताया और कहा कि रज्जू भैया का सहज सरल व्यक्तित्व सभी के लिए प्रेरणा का स्रोत रहा है इलाहाबाद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर आर0आर0 तिवारी ने बताया कि रज्जू भैया न केवल एवं मेधावी विद्यार्थी थे वे एक समर्पित शिक्षक  भी  रहे सर सी0 वी0 रमन ने उनकी मेधा को पहचानते हुए ने न्यूक्लियर फिजिक्स में शोध के लिए प्रेरित किया था स्वागत भाषण प्रोफेसर के0 पी0 सिंह डीन, विद्यार्थी कल्याण एवं धन्यवाद ज्ञापन प्रोफेसर प्रशांत अग्रवाल निदेशक प्रवेश ने किया कार्यक्रम का संचालन जनसंपर्क अधिकारी डॉ शैलेंद्र मिश्र ने किया कार्यक्रम में प्रातः प्रोफेसर रामसेवक दुबे परीक्षा नियंत्रक प्रोफेसर रामेंद्र कुमार सिंह एवं बड़ी संख्या में शिक्षक व छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे