Menu

Public Relation’s Officer Desk

May 02, 2016

Public Relation Officer, UoA

ADVANTAGES OF ONLINE ENTRANCE EXAMINATION

  • The expertise in computer is not required to appear in the ONLINE exam. The applicant has to read the questions papers on a computer and click the correct option and this can be done by any literate person.
  • The computer system along with all the necessary software will be provided to the candidate at the test centre.
  • Each computer will be earmarked for a particular student and only he/she can use that computer. 
  • The Online Examination can be conducted in several geographically scattered locations at the same time. The ONLINE exam does not involve the printing or distribution of question papers so the planning of examination all over India may be managed easily.
  • The preparation of results after the conduct of exam can be easily managed.
  • The online exam system has overcome the language constraints as candidate may be given option to take exam in multiple languages which benefits the performance of the candidate.
  • Online examination has also emerged as a boon for the candidates with physical disability including hearing, visual, etc. Text can be presented in a variety of ways that enhance readability, making it easy for the needed candidates. Role of scribes has almost finished with the online exam system. Various input devices can be used to extend access to such students. Braille keyboards are available for those with vision problems.
  • For the help of the students complete information related to exam instructions and steps is provided before the commencement of exam. Candidates can practice through the Mock Tests which are available online. The best advantage of computer based exam is that one can change the answer frequently at a click while in offline it is difficult to change your answer once you circle OMR with pen.
  • The question panel is clearly indicated on the computer screen which helps the candidates to easily understand the category and questions. Questions are shown in different colour schemes which indicate that which questions are answered, left unanswered or marked for review.
  • Computer based test provides an advantage in scheduling of exam, because online tests can be administered in very less time than it takes to administer a paper test.
  • The thumb impression, face recognition and photographs can be captured during the before the start of examination. This data may be further used at the time of admission and verification of the applicant at the later stage by the University.
The ONLINE Test Centers opted by the candidates of PGAT/CRET/LLB/LLM/BED/MED/BALLB/IPSThe ONLINE Test Centers opted by the candidates of UGAT-2016
Test Centre
No. of applicants
Test Centre
No. of applicants

Agra

91

Agra

44

Ahmedabad

38

Ahmedabad

28

Aligarh

64

Aligarh

29

Allahabad

10383

Allahabad

1321

Bangalore

12

Bangalore

4

Bareilly

150

Bareilly

52

Bhopal

23

Bhopal

16

Bhuvneshwar

28

Bhuvneshwar

4

Bilaspur

7

Bilaspur

4

Chandigarh

16

Chandigarh

7

Chennai

5

Chennai

1

Dehradoon

48

Dehradoon

11

Faizabad

280

Faizabad

97

Gorakhpur

594

Gorakhpur

196

Greater Noida

46

Greater Noida

12

Guwahati

26

Guwahati

8

Gwalior

11

Gwalior

9

Hydrabad

18

Hydrabad

8

Indore

12

Indore

6

Jabalpur

13

Jabalpur

17

Jaipur

16

Jaipur

6

Jammu

11

Jammu

4

Jhansi

43

Jhansi

36

Kanpur

298

Kanpur

73

Kausambhi

49

Kausambhi

25

Kochi

10

Kochi

3

Kolkata

128

Kolkata

29

Lucknow

866

Lucknow

286

Mathura

13

Mathura

5

Meerut

50

Meerut

11

Mumbai

14

Mumbai

5

New Delhi

466

New Delhi

69

Panaji

1

Panaji

3

Patna

165

Patna

82

Raipur

10

Raipur

4

Ranchi

53

Ranchi

38

Satna

16

Satna

47

Ujjain

1

Shimla

1

Varanasi

1815

Varanasi

535

Grand Total
15890
Grand Total
3136

April 30, 2016

जन संपर्क अधिकारी, इलाहाबाद विश्वविद्यालय, इलाहाबाद

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग नई दिल्ली के अध्यक्ष प्रो० वेद प्रकाश के कार्यालय आदेश संख्या डी० ओ० न० F-1-12/2015 (CM) दिनाक 28 दिसम्बर, 2015 के अनुपालन के क्रम में इलाहबाद विश्वविद्यालय ने सत्र 2016-17 में परास्नातक व अन्य पाठ्यक्रमो में प्रवेश हेतु – प्रवेश परीक्षा “आनलाइन” का निर्णय पूर्व में लिया गया है | यह निर्णय विद्द्त परिषद और संकाय परिषद से पास होने के बाद विषय सम्बंधित विभागाध्यक्षो से विचार विमर्श किया गया है | प्रवेश परीक्षा हेतु की गई सम्पूर्ण जानकारी समय सारिणी एवं प्रबंधन से सम्बंधित जानकारी विश्वविद्यालय अनुदान आयोग को भेजी जा चुकी है | ऐसे में विश्वविद्यालय छात्रसंघ पदाधिकारियों व अन्य छात्रों द्वारा प्रवेश परीक्षा का “ऑफलाइन” विकल्प मांगना तर्कसंगत नहीं प्रतीत हो रहा है | छात्र आन्दोलन के नाम पर विश्वविद्यालय में संचालित हो रही परीक्षाओ को शोरगुल द्वारा बाधित करना, कार्यालयों को जबरजस्ती बंद कराना व विश्वविद्यालय के संपत्ति को क्षति पहुचना व कार्यलीय क्रिया कलापों में व्यवाधक उत्पन्न करना मर्यादित आचरण का प्रतीक नहीं है | सुदूर स्थानो से आये छात्रों एवं उनके परिजनो को समय पर विश्वविद्यालय सम्बंधित प्रमाण पत्र न दे पाने कि स्थिति में उनके कष्ट का अनुमान लगाना कठिन है | अतः छात्रों एवं छात्र संघ पदाधिकारियों से अपील कि जाती है कि वर्तमान में विश्वविद्यालय की शैक्षिक प्रगति एवं क्रियाकलापों को सुचारू रूप से चलने में सहयोग प्रदान करे |



March 17, 2016

जन सम्पर्क अधिकारी, इ0वि0वि0

इलाहाबाद विश्वविद्यालय प्रशासन, जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन एवं छात्रावासों के अधीक्षकों की सम्पन्न हुई बैठक में छात्रावासों के अंतःवासीयों द्वारा डीजे के साथ छात्रावास परिसर के बाहर होली का जुलूस निकालना पूर्णतः प्रतिबन्धित करने का निर्णय लिया है। यह निर्णय विश्वविद्यालय परिसर में हो रही परीक्षाओं तथा परीक्षाओं में सम्मिलित होने वाले परीक्षार्थियों के हो रहे व्यवधान के कारण लिया गया है। इसके उपरान्त यदि किसी के द्वारा डीजे को छात्रावास में बुुलाया जाता है तो डीजे के मालिक तथा बुलाने वाले छात्र/छात्राओं पर नियमानुसार कार्यवाही की जायेगी। छात्र/छात्राओं के अपने छात्रावास परिसर में बिना डीजे के होली पर्व मनाने की पूर्ण रूप से छूट प्रदान की गई है।


February 05, 2016

Public Relations Officer, UoA
Press Note

Hon’ble Vice-Chancellor, University of Allahabad Prof. R. L. Hangloo would like to meet the print media/electronic media persons/representatives in the Vice-Chancellor’s office at 2:00 p.m. on 6th February 2016. Kindly send your representative/ reporter to cover it.

प्रेस नोट

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के माननीय कुलपति प्रो0 आर0 एल0 हांगलू मुद्रित/इलेक्ट्रानिक मीडिया कर्मियों/प्रतिनिधियों को अपने कार्यालय में दिनांक 6 फरवरी, 2016 को अपरान्ह 2:00 बजे वार्ता हेतु आमंत्रित किया है। कृपया अपने प्रतिनिधि/रिपोर्टर को भेजने का कष्ट करें।


January 27, 2016

जन सम्पर्क अधिकारी, इलाहाबाद विश्वविद्यालय, इलाहाबाद-
विश्वविद्यालय में कार्य संस्कृति पर जोर-''सबका साथ-सबका विकास'' प्रो0 आर. एल. हांगलू, कुलपति।

67वें गणतन्त्र दिवस के अवसर पर इलाहाबाद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 आर0 एल0 हांगलू , कुलपति, देश के विकास में शिक्षा की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए विश्वविद्यालय की भूमिका को रेखांकित किया। देश में बढ़ती हुई युवाशक्ति को देश के विकास में महत्वपूर्ण योगदान का आवह्न करते हुए कुलपति ने विश्वविद्यालय में कार्य -संस्कृति के विकास पर जोर दिया। छात्रों, कर्मचारियों, अध्यापकों तथा इलाहाबाद नगर के गणमान्य लोगों के जनसूह के समक्ष विश्वविद्यालय के विकास में आ रही गतिरोध को दूर करने का आश्वासन दिया तथा पठन-पाठन, शैक्षणिक गतिविधियों एवं शोध कार्यो में धन की कमी नहीं होगी, का आश्वासन दिया। कई वर्षो से लम्बित शिक्षकों, कर्मचारियों आदि से सम्बन्धित पदोन्नति के प्रकरणों पर यथाशीघ्र कार्यवाही करने का भी आश्वासन दिया। डिजिटल इंडिया-- कार्यक्रम को आगे बढाते हुये कुलपति महोदय ने प्रयोगशालाओं, एवं विभागीय पुस्कालयों को आधुनिक बनाने पर जोर दिया । साथ ही साथ विश्वविद्यालय में आधार भूत संरचना के विकास हेतु तत्पर रहने के लिये विश्वविद्यालय प्रशासन की सराहना की। पूर्व में इसी क्रम में कुलपति महोदय ने विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों में कार्यरत अध्यापकों को विभिन्न समितियों में नामित किया है। अन्त में विश्वविद्यालय के सर्वागींण विकास हेतु सबके सहयोग की अपील की।


January 25, 2016

Public Relation’s Officer, AU-

As directed by the Hon’ble Vice-Chancellor, this is to request you that a notice may kindly be published in all the local daily newspapers to the effect that during raid in the hostels those people who are staying unauthorizedly and are no more registered students of the University of Allahabad, their degrees shall be withdrawn if they have obtained degree from the University of Allahabad at any point of time. Those illegal persons who were never students of the University will be treated as trespassers and legal action will be initiated against them for their act of criminality. We will also inform the parents of the students who are residing illegally in the hostel after their valid tenure.

Go to top