logo
ZHindi Text

As per the information received from the

आज दिनांक मई 18, 2017 को विश्वविद्यालय में माननीय कुलपति प्रो0 रतन लाल हाँगलू ने विज्ञान व विधि संकाय में उन अध्यापकों के साथ बैठक की जो कैरियर एडवाॅनसमेंट स्कीम

(CAS) में अन्तर्गत अर्ह हो गये हैं। कुलपति ने अध्यापकों का औपचारिक रूप से स्वागत करते हुये उनकी शीघ्रातिशीघ्र प्रोन्नति किये जाने का भरोसा दिलाया। कुलपति ने अध्यापकों से अपने कर्तव्यों के प्रति सजग रहने का आग्रह किया तथा यह अपेक्षा की कि वह गुणवत्ता पूर्ण अध्ययन व शोध करें जिससे विश्वविद्यालय देश के अन्य विश्वविद्यालयों से प्रतिस्पर्धा कर सके। शिक्षकों को अपने अवशेषित देयों के प्रति निश्चिन्त रहना चाहियें सभी के विधि सम्मत अवशेषों की पूर्ति की जायेगी। कुलपति ने अध्यापकों से विश्वविद्यालय के स्वर्णिम दिनों की वापसी के लिये प्रयासरत रहने का आवाहन किया। बैठक में आटा अध्यक्ष प्रो0 राम सेवक दुबे एवं जन सम्पर्क अधिकारी प्रो0 हर्ष कुमार भी उपस्थित थे।

 

 

Director, Institute of Professional Studies, AU:

Renowned scientist Dr. J. R. Bandekar from Bhabha Atomic Research Centre (BARC), Mumbai was present as speaker in the training programme at Centre of Food Technology. He delivered a lecture on Preservation of Food by Irradiation Technology, where he emphasized on process of exposing foodstuffs to ionizing radiation which eliminate the risk of food borne illnesses, prevent or slow down spoilage, arrest maturation or sprouting and as a treatment against pests. Another topic on which he talked about was potential effects of probiotics which is believed to provide health benefits when consumed. This 12 day, training programme is organized by Centre of Food Technology, IPS, University of Allahabad for the students of M.Sc Food Technology and Nutritional Sciences. The programme was inaugurated on 11th May 2017, by the former Vice-Chancellor of Bundelkhand University Prof. A.C Pandey, who talked about the novel techniques and applications of nanotechnology in food, which is one of the most emerging field now a days. Through this program the centre aims to provide the students a close industry - academic interaction and to enrich their knowledge in the field of advances in analytical techniques in food and nutritional sciences. Prof. Neelam Yadav, Director, IPS informed that this programme will be continued for 12 days which will be addressed by the eminent experts like Prof. Baliram, Prof. C P Mishra and Dr. R R Mishra from BHU, Dr Snehashish Chakravorty, ICT Mumbai; Dr D N Yadav, CIPHET, Luhdhiana; Dr Vasudha Sharma, Jamia Hamdard, New Delhi; Dr Shikha Khanna, RML Hospital New Delhi and Dr Gurdeep Kaur, AIIMS, New Delhi. Throughout the programme the students will be given the opportunity to interact with eminent experts in their respective fields and get hands on experience through visits to laboratories and food industries.

भाभा एटामिक रिसर्च सेन्टर के जाने-माने वैज्ञानिक प्रोफेसर जे. आर. बांडेकर  इलाहाबाद विश्वविद्यालय के सेण्टर आॅफ फूड टेक्नोलाजी में आयोजित ट्रेनिंग कार्यक्रम में आमंत्रित थे। उन्होंने खाद्य संरक्षण की नवीनतम तकनीक ‘इर्रेडिएशन टेक्नोलाॅजी’ के विभिन्न पहलुओं से विस्तार से छात्रों को अवगत कराया। इसके अतिरिक्त उन्होंने छात्रों को प्रोबायोटिक्स के प्रभावों और मानव स्वास्थ्य में इसके योगदान को भी विस्तार से समझाया। बारह दिनों तक चलने वाला यह ट्रेनिंग कार्यक्रम एम.एससी. फूड टेक्नोलाजी और एम.एससी. न्यूट्रिशनल साइंस के द्वितीय सेमेस्टर के विद्यार्थियों के लिए आयोजित किया गया है। कार्यक्रम का उद्घाटन 11 मई 2017 को बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति एवं आई.आई.डी.एस. के निदेशक प्रोफेसर अविनाश चन्द्र पाण्डेय ने किया। उन्होंने खाद्य उत्पादन एवं प्रसंस्करण नैनोटेक्नोलाॅजी के प्रयोग पर एक विस्तृत व्याख्यान दिया। इंस्टीट्यूट आॅफ प्रोफेशनल स्टडीज की निदेशक प्रोफेसर नीलम यादव ने बताया कि 12 दिनों तक चलने वाले इस ट्रेनिंग कार्यक्रम में जो अन्य प्रमुख विशेषज्ञ भाग ले रहे हैं उनमें बी0एच0यू0 के प्रो0 बलिराम, प्रो0 सी0पी0 मिश्रा एवं डा0 आर0आर0 मिश्रा, आई.सी.टी. मुम्बई के डाॅ. स्नेहाशीष चक्रवर्ती, सीफेट लुधियाना के डाॅ0 डी.एन. यादव, जामिया हमदर्द नई दिल्ली की डाॅ0 वसुधा शर्मा, राम मनोहर लोहिया अस्पताल, नई दिल्ली की चीफ डाइटीशियन डा0 शिखा खन्ना एवं एम्स, नई दिल्ली की असिस्टेंट डाइटीशियन श्रीमती गुरदीप कौर शामिल हैं। ेट्रेनिंग के दौरान छात्रों को फूड टेक्नोलाॅजी एवं न्यूट्रिशनल साइंस के विशेषज्ञों से सीधे बातचीत का अवसर मिलेगा साथ ही साथ उन्हें विभिन्न महत्वपूर्ण प्रयोगशालाओं और फूड इण्डस्ट्री का भ्रमण कराकर प्रायोगिक अनुभव भी कराया जायेगा।

अध्यक्ष , संस्कृत विभाग, इला0 वि0 वि0
संस्कृत विभाग में डी0 फिल0 प्रवेश हेतु क्रेट परीक्षा सत्र 2016 में सफल आवेदको का लेबल -3 का साक्षात्कार संस्कृत विभाग में दिनांक 26 मई 2017 को प्रातः 9ः00 बजे से सम्पन्न होगा।

The Level III interview of the candidates selected by CRET 2016 in Sanskrit will be held on 26 May, 2017, from 9:00am onwards in the Department of Sanskrit.