A- A A+
A
A
logo
जर्मनी से लौटे छात्राओं का सम्मान 
 
इलाहाबाद विश्वद्यालय के बायोटेक्नोलॉजी विभाग के प्रोफेसर एवं बायोइन्फ़ोर्मेटिक्स के विभागाध्यक्ष प्रो. एम्. पी. सिंह ने एम्. एस. सी.  बायोइन्फ़ोर्मेटिक्स की छात्रा आयुषी द्विवेदी तथा स्मृति द्विवेदी एवं बायोटेक्नोलॉजी विभाग की आराधना सिंह को बायोइन्फ़ोर्मेटिक्स में आयोजित सम्मान समारोह में सम्मानित किया गया | 
इन छात्राओं का चयन हिडलबर्ग विश्वद्यालय, जर्मनी में 'बिग डाटा रिसर्च ईन बायोसाइंस' में शोध कार्य हेतु विंटर स्कूल प्रोग्राम के तहत हुआ | देश के पांच शैक्षणिक संस्थान से कुल उन्नीस छात्र-छात्राओं का चयन  हिडलबर्ग विश्वद्यालय, जर्मनी में कार्य करने हेतु हुआ जिसमें चार इलाहाबाद विश्वद्यालय के, चार जे. एन. यू. के तथा ग्यारह आई आई टी कानपूर मद्रास तथा गुहाटी के थे | इन्होने 25 जनवरी 2018 से 29 मार्च 2018 तक हिडलबर्ग विश्वद्यालय में कार्य किया |  तत्पश्चात ये वापस लौटे | सम्मान समारोह में प्रो. एम्. पी. सिंह ने इन छात्रों के कार्य की तारीफ की, आगे और उत्कृष्ट शोध हेतु प्रेरणा दी तथा इनको सम्मानित करते हुए सर्टिफिकेट प्रदान किया गया | आयुषी और आराधना ने वहाँ का अनुभव साझा किया, वर्क कल्चर के बारे में बताया तथा सफलता के कुछ टिप्स दिए | इस अवसर पर विभाग के शिक्षक डॉ. प्रमोद कटारा, डॉ. अनूप सोम, डॉ. पूजा मिश्रा, एम्. एस. सी. के छात्र-छात्राऐ, रिसर्च स्कॉलर एवं ऑफिस के स्टाफ मौजूद थे |
 
 
 
 
 
 
Students returned from Germany were felicitated
 
Prof. M.P. Singh, Coordinator, Centre of Bioinformatics, University of Allahabad felicitated two students of M.Sc. Bioinformatics - Ayushi Dwivedi and Smriti Dwivedi and one student of M.Sc. Biotechnology - Aradhna Singh in a felicitation ceremony organized in the Centre of Bioinformatics.
These students were selected to work on ‘Big Data Research in Biosciences’ under Winter School Programme at Hiedelberg University, Germany. Out of total 19-students selected from 5-premier institution of India to work in Hiedelberg University; 4-students were from Allahabad University, 4 from JNU and 11 from IIT, Madras, Kanpur and Guwahati. The selected students worked at Hiedelberg University from 25th January 2018 to 29th March 2018. Now they are back. In felicitation ceremony Prof. M.P. Singh appreciated the work of these students, inspired to go for cutting edge research and awarded Certificate of Excellence. Ayushi and Aradhna shared their experience of Germany, told about work culture of Hiedelberg University and gave some tips of success to other students. On this occasion teachers of Bioinformatics Dr. Pramod Katara, Dr. Anup som, Dr. Pooja Mishra, M.Sc. students, research scholars and official staffs were present.