A- A A+
A
A
logo

Head, Department of Law, AU:

All the students of LL.M. IV Semester are hereby required to consult their respective Supervisor within a week that is by 09.03.2018 and apprise them of the progress made so far with regard to the writing of their dissertation on the assigned topic. They should incorporate the suggestion and corrections given by supervisor in the dissertation prior to submission failing which the supervisor may refuse to endorse the dissertation for submission. They are to further note that 30.03.2018 is the last date by which they are required to submit their dissertation completed in all respects. However, the candidates who have completed their dissertation as per the guidelines prescribed any submit the same on and after 15.03.2018 but not later than 30.03.2018 in the office of Law Department on all working days.

  वे छात्र/छात्राएं जो एलएल0एम0 द्वितीय सेमेस्टर सत्र 2017-18 की द्वितीय परीक्षा हेतु आवेदन करना चाहते है दिनांक 09.03.2018 से 20.03.2018 तक आवश्यक शुल्क जमा करके द्वितीय परीक्षा का फार्म विधि विभाग के कार्यालय में आकर जमा कर दें।
 
अध्यक्ष, भूगोल विभाग, इ0वि0वि0ः
भूगोल विभाग के एम0ए0/म0एस0सी0 द्वितीय सेमेस्टर छात्रों को सूचित किया जाता है कि प्रो0 बी0एन0सिंह के अन्तर्गत “East Asia” का टी-1 टेस्ट दिनांक 13 मार्च 2018 को पूर्वाह्नन 10 बजे से सम्पन्न होगा।
 
स्ंयोजक, केन्द्रीय सास्कृतिक समिति, इ0वि0वि0ः
इलाहाबाद विश्वविद्यालय की केन्द्रीय संास्कृतिक समिति की ओर से अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में विश्वविद्यालय की DISTINGUISHED LECTURE SERIES  के अंतर्गत प्रो0 गरिमा श्रीवास्तव (प्रोफेसर, भारतीय भाषा केंद्र, जे0एन0यू0 नयी दिल्ली) का युद्ध और स्त्री विषय पर दिनांक 09 मार्च 2018 को 11 बजे पूर्वाह्नन में नार्थ हाॅल में एक व्याख्यान होगा। इसकी अध्यक्षता माननीय कुलपति प्रो0 आर0एल0 हांगलू करेगें। इस अवसर पर प्रो0 गरिमा श्रीवास्तव की सद्यः-प्रकाशित पुस्तक देह ही देश का लोकार्पण भी होगा। प्रो0 गरिमा श्रीवास्तव नवजागरण कालीन साहित्य की विशेषज्ञा है। उन्होंने भारतीय सास्कृतिक सम्बन्ध परिषद के तहत 2 वर्ष तक विदेश में भी शिक्षण किया है। जे0एन0यू0 के पूर्व उन्होंने शान्तिनिकेतन (पश्चिम बंगाल) वनस्थली विदयापीठ (राजस्थान) और हैदराबाद केन्द्रीय विश्वविद्यलाय में भी अध्यापन किया है।

 

Section officer, Research Section, AU:

  • The Viva-Voce of Mr./Ms. Ramesh Kumar Yadav, candidate for the D.Phil. Degree of the University on the subject of his/her thesis titled as, “Social and Human Problems Generated by Second Urbanization in India” will be held on March 12, 2018 at 11:30 a.m. at the Department of Ancient History, Culture and Archaeology, A.U., Allahabad. The examination will be conducted by Prof. Vibha Upadhyay, and Prof. Om Prakash. Members of the Academic Council are invited to attend but no T.A./D.A. will be paid.
  • The Viva-Voce of Mr./Ms. Kavita Srivastava, candidate for the D.Phil. Degree of the University on the subject of his/her thesis titled as, “Sangeet Mein Tall ki Aitihasikta, Mahatva Evam Avashyakta: Ek Voshleshnatmak Adhyayan” will be held on March 27, 2018 at 11:00 a.m.at the Department of Music, A.U., Allahabad. The examination will be conducted by Prof. Vijay Krishna, and Prof. Renu Johri. Members of the Academic Council are invited to attend but no T.A./D.A. will be paid.
  • The Viva-Voce of Mr./Ms. Sarita Tripathi, candidate for the D.Phil. Degree of the University on the subject of his/her thesis titled as, “Uttar Pradesh Lok Sangeet Parampara Ke Antargtat Lok Vadyon ka Vishleshnatmak Adhyayan” will be held on March 15, 2018 at 11:00 a.m. at the Department of Music, A.U., Allahabad. The examination will be conducted by Prof. Pankaj Mala Shrma, and Prof. V.D.P. Mishra  Members of the Academic Council are invited to attend but no T.A./D.A. will be paid.
  • The Viva-Voce of Mr./Ms. Sandhya, candidate for the D.Phil. Degree of the University on the subject of his/her thesis titled as, “Bhartiya Sangeet Mein Tal Vadyon Ki Uttpatti aur Vikash ke Sandardh Mein Vartman Uttar Bhartiya Tal Vadyon Ka Mahattv ek Vishleshnatmak Adhyayan” will be held on March 19, 2018 at 11:00 a.m. at the Department of Music, A.U., Allahabad. The examination will be conducted by Prof. Kiran Desh Pandey, and Prof. Renu Johri  Members of the Academic Council are invited to attend but no T.A./D.A. will be paid.
  • The Viva-Voce of Mr./Ms. Pallavi Rai, candidate for the D.Phil. Degree of the University on the subject of his/her thesis titled as, MkW0 jke dqekj oekZ dh vkykspuk n`f’V dk vuq”khyu” will be held on March 09, 2018 at 11:00 a.m. at the Department of Hindi, A.U., Allahabad. The examination will be conducted by Prof. Ashutosh Kumar, and Prof. Pranay Krishna  Members of the Academic Council are invited to attend but no T.A./D.A. will be paid.

 

                                मानव संसाधन विकास ए राष्ट्र निर्माण एवं शिक्षा के विकास में शिक्षकों की भूमिका अहम

 इलाहाबाद विश्वविद्यालय के UGC-HRD के द्वारा संचालित तीसरे विशिष्ट शीतकालीन पुनश्चर्या कामेश्वर नाथ सिंह ने अपने वक्तव्य में कहा कि मानव संसाधन का विकास शिक्षकों के सार्थक योगदान के बिना सम्भव नहीं है। भारत में विकास की सारी संभावनायें है । अज्ञानता एवं निरक्षरता को दूर करने की आवश्यकता है। मानव संसाधन को स्वरूप देने में शिक्षकों का गुरूतर दायित्व है। शिक्षक स्वयं को सक्षम बनकर राष्ट्र निर्माण में अपनी व्यापक भूमिका सृजित कर सकते हैं। प्रो0 के0एन0सिंह ने कहा कि संसाधन कहीं  अन्यत्र वाह्य जगत में न होकर मनुष्य के मस्तिष्क और ज्ञान में समाहित है। मस्तिष्क का विकास करने में शिक्षकों की भूमिका बहुत ही महत्वपूर्ण है। इस अवसर पर निदेशक़ यू0जी0सी0-एच0आर0डी0 केन्द्र इलाहाबाद विश्वविद्यालय प्रो0 आर0के0 सिंह ने कहा कि शिक्षकों को अपनी क्षमताओं को विकसित करना होगा उन्हीं के प्रयासों से ही एक विकसित भारत का सपना साकार होगा। भारत पूरे विश्व में अपने कौशल के लिये जाना जाता है। भारत में शिक्षा के विकास से परिवर्तन सम्भव है। कोर्स समन्वयक, प्रो0 ए0आर0सिद्दीकी, भूगोल विभाग ने कहा कि भारत में मनुष्य सामाजिक पूँजी के रूप में है। मनुष्य अपने ज्ञान और श्रम से विकास की सारी संभावनाओं को प्राप्त कर सकता है। डॉ0 अश्वजीत चौधरी ने कुलपति, राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय, इलाहाबाद प्रो0 कामेश्वर नाथ सिंह तथा निदेशक यू0जी0सी0-एच0आर0डी0केन्द्र इलाहाबाद विश्वविद्यालय, प्रो0 आर0के0 सिंह के साथ-साथ अन्य सभी को आभार और धन्यवाद व्यक्त किया।